सतपाल महाराज का करीबी बताने वाले पंकज भट्ट क्या?? खराब कर रहे पार्टी की छवि….देखिए खबर अपडेट..

देहरादून । अपनी राजनीति को चमकाने के लिए कुछ लोग बड़े मन्त्रियों का नाम लेकर रूद्रप्रयाग जिले मे एक बड़ा राजनैतिक रुप धारण कर अपना नाम बुलन्दियों तक ले जाना चहाते है, मगर इनका ये सपना साकार भी होगा कि नही ये तो आने वाला समय ही बतायेगा।

दरअसल मे भाजपा सरकार ने दो बर्ष पूर्व देब स्थानम बोर्ड की स्थापना की थी ,जिस कारण से इस बोर्ड के गठन के बाद से केदारनाथ तीर्थ पुरोहितों सहित यहाँ के पंडा समाज मे भारी आक्रोश फैला हुआ था तथा इस बोर्ड को सरकार से खत्म करने की माँग को लेकर लम्बे समय से आन्दोलनरत थे ,जिसके चलते
तीर्थपुरोहित,व्यापार संघ व जनप्रतिनिधियों द्वारा उखीमठ एक विशाल जलूस निकाला जा रहा तो तब सूत्रो के हवाले से ज्ञात हुआ कि पंकज भट्ट उखीमठ तहसील मे उपजिलाधिकारी के साथ बैठे थे तहसील परिसर की और प्रदर्शनकारियो को आते देखकर भाजपा नेता तहसील से बहार आकर प्रदर्शनकारियो को समझाने लगा और सरकार से बोर्ड को खत्म करने की माँग कहने की बात करने लगे, वास्तव मे अगर देखा जाय तो ये नेता अपने सरकार के खिलाफ हो रहे प्रर्दशन मे आन्दोलनकारियो का समर्थन व बोर्ड को भंग किये जाने की मांग अपनी पार्टी के फैसले के खिलाफ क्यो बोल रहे, व्लकि यही नही ग्रूपो मे अपने को पर्यटन सलाहकार भी बता रहे है बहरहाल ये तो सरकार ही बतायेगी कि पंकज भट्ट पर्यटन सलाहकार है या नही जब ये जलूस निकाला जा रहा था।

आपको यह भी बता दे कि ये माननीय अपने को पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज का प्रतिनिधि बता कर तीर्थ पुरोहितों को समझाने लगा जिससे सारे आन्दोलनकारी आग बबूला हो गये,और भाजपा नेता को वहाँ खदेड़ दिया ,इनके आक्रोश को देखते हुए पंकज भट्ट किसी तरह भागकर जान बचाने हेतू किसी के मकान की छत पर चढ गये जो कि सोशल मीडिया व फैस बुक पर डाली गयी वीडियो मे साफ दिखाई दे रहा है। मजे की बात यह भी है कि नेता जी ने इससे पूर्व बिना पद पर रहते हुए केदारनाथ विधानसभा मे कोरी घोषणाएं भी कि जो कि औचत्यहीन है।

इस समन्ध मे जब हमने भारतीय जनता पार्टी के जिलाध्यक्ष दिनेश उनियाल से आन्दोलनकारियो को समझाने वाले व्यक्ति के बारे पूछ ताश की कि क्या पंकज भट पार्टी मे कोई पदाधिकारी है तो जिलाध्यक्ष ने अपने साफ शब्दों मे कहा कि अपने को सतपाल महाराज का करीबी बताने वाला पंकज भट्ट तो जिले मे भाजपा कार्यकारणी का सदस्य भी नही है कोई नाही कोई पदाधिकारी है
फिर वो भाजपा नेता कैसे हो सकते उन्होंने ये भी कहा है कि पंकज भट्ट इस तरह की औछी हरकत कर पार्टी की छवि धूमिल करने की कौशिश कर रहे है।

वास्तविकता ये है नाही पंकज भट्ट किसी मंत्री, विधायक के अधिकृत प्रतिनिधि है, और न  पार्टी का उनसे कोई ताल्लुक जिससे कि मै इन बातो से सहमत नही हूँ।पंकज भट्ट केवल अपनी राजनीति चमकाने और चुनाव लड़ने के लिए मंत्रियों का सहारा ले रहे है।
जिलाध्यक्ष ने बताया कि भाजपा मे स्वच्छ, और साफ छवि के ही व्यक्ति को प्रवेश दिया जाता न कि ऐसे लोगो को जो जनता को लूट कर अपनी स्वार्थ की राजनिति करे, रूद्रप्रयाग जिले मे अपनी राजनीति चमकाने के लिए  लोग कर रहे है पार्टी की छवि खराब कर रहे है, दिनेश उनियाल- जिलाध्यक्ष भाजपा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!